NISHVANT GOVINDA

JMR Computer's

News

view:  full / summary

Mujhe Jaan Se Marne Ki Koshish

Posted by Nishvant Govinda on July 17, 2011 at 10:26 AM Comments comments (1)

Koi ek aadmi hai jo mujhe jaan se maar dena chah raha hai mai us aadmi ka photo jald hi aap logo ke beech jari kar dunga

.....Live coverage: Three blasts in Mumbai

Posted by Nishvant Govinda on July 13, 2011 at 2:19 PM Comments comments (0)

Serial blasts struck Mumbai this evening, less than three years after the 26/11 terrorist attacks of 2008. The three blasts, in sequence, were timed at 6.30 pm, 6.45 pm, and 7 pm IST, and targeted in that order Zaveri Bazaar, Opera House and the Kabutarkhana area of Dadar West. Zaveri Bazaar, centre of the jewelry industry, is adjacent the iconic Mumbadevi temple from which the city derives its name; both Zaveri Bazaar and Kabutarkhana were also targeted in the 1993 serial blasts.

A team of NIA officials, forensics experts and anti-terrorist operatives are en route to Bombay on a BSF special plane; an NSG unit is on standby on the ground. Home Minister P Chidambaram has chaired a meeting of senior Cabinet ministers and officials while Maharashtra Chief Minister Prithviraj Chauhan is coordinating relief and rescue operations on the ground.

The city, which has witnessed multiple acts of terrorism over the years, has been reacting with abnormal calm; citizens have been providing help and shelter to those in need with offers of help flooding social media sites such as Twitter.

विस्फोटों से फिर दहली मुंबई, 20 की मौत

Posted by Nishvant Govinda on July 13, 2011 at 2:15 PM Comments comments (0)

 मुंबई। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई बुधवार की शाम को एक बार फिर सिलसिलेवार बम धमाकों से थर्रा उठी। दक्षिण मुंबई के झावेरी बाजार और ओपेरा हाउस [चर्नी रोड] में तथा मध्य मुंबई के दादर में ये विस्फोट सात बजे के करीब हुए। इन विस्फोटों में 20 लोगों की मौत हो गई और 113 से ज्यादा घायल हुए हैं। ये सभी विस्फोट अति भीड़ वाले इलाकों में हुए। गृह मंत्रालय ने इन विस्फोटों के आतंकी हमला होने की पुष्टि की है। इन आतंकी हमलों के पीछे इंडियन मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा का हाथ होने का संदेह व्यक्त किया जा रहा है। पूरे देश में हाई-अलर्ट घोषित कर दिया गया है। इन धमाकों ने देश को एक बार फिर 26/11 को हुए आतंकी हमलों की याद दिला दी, जिनमें 166 लोग मारे गए थे। बुधवार को हुए विस्फोट किस प्रकार के थे और इनमें किस सामाग्री का प्रयोग किया था, इस बारे में अभी पुलिस ने कोई जानकारी नहीं दी है। हमले की गंभीरता को देखते हुए नई दिल्ली से राष्ट्रीय जांच एजेंसी [एनआइए] और फोरेंसिक विशेषज्ञों की टीम मुंबई पहुंच चुकी हैं। विस्फोट-दर-विस्फोट : मुंबई से पहले धमाके की खबर जेवरातों के लिए मशहूर झावेरी बाजार से आई। जहां की प्रसिद्ध खाऊ गली में मुंबा देवी मंदिर के सामने विस्फोट हुआ। कहा जा रहा है कि विस्फोटक एक टिफिन बॉक्स में रखा हुआ था। खास बात यह है कि 1993 में हुए बम धमाकों में भी इसी जगह को आतंकियों ने निशाना बनाया था। इसके कुछ मिनटों बाद दूसरा विस्फोट दादर में रेलवे स्टेशन के नजदीक बस स्टॉप के पास खड़ी टैक्सी में हुआ। टैक्सी का नंबर एमएच 43-ए 9384 बताया गया है। इस धमाके में नजदीक ही खड़ी कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। इसके कुछ ही मिनटों के बाद चर्नी रोड स्थित ओपेरा हाउस के प्रसाद चैंबर में विस्फोट हुआ। जिंदा बम मिला:- अफरा-तफरी भरे माहौल में दादर में लोगों के बीच उस वक्त और दहशत फैल गई जब दादर में जांच दस्ते को एक जिंदा बम मिला। प्रधानमंत्री ने की बात:- मनमोहन सिंह ने इन विस्फोटों के बाद की स्थिति की जानकारी लेने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चह्वाण से फोन पर बातचीत की। मुख्यमंत्री ने बाद में मीडिया से बातचीत में कहा कि घायलों को सेंट जॉर्ज अस्पताल, नायर और केईएम अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। खुफिया तंत्र को नहीं लगी आतंकी इरादों की भनक नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। गृह मंत्रालय ने माना है कि मुंबई में हुए सिलसिलेवार धमाकों के बारे में केंद्र या राज्य सरकार के खुफिया तंत्र को जरा भी भनक नहीं लग सकी थी। बुधवार शाम मुंबई की भीड़ भरी जगहों पर हुए इन तीन धमाकों ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि पिछले छह महीने के दौरान देश में कोई आतंकी वारदात नहीं होने के बाद सुरक्षा तंत्र काफी हद तक शिथिल हो गया था। इन धमाकों के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने देश भर के सभी राज्यों को हाई अलर्ट पर रहने को कहा है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चह्वाण से भी फोन पर बात की। मुंबई धमाकों के बाद गृह मंत्रालय के शीर्ष सूत्र ने माना कि इसको लेकर कोई खुफिया सूचना नहीं थी। न ही राज्य सरकार से इस संबंध में कोई सूचना साझा की गई थी। यहां तक कि इस साल अब तक देश भर में रही शांति के बाद पिछले कुछ समय से गृह मंत्रालय ने कोई सुरक्षा अलर्ट भी जारी नहीं किया था। गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने पिछले हफ्ते ही यह कहते हुए अपनी पीठ थपथपाई थी कि इस साल की पहली छमाही पिछले दस साल में सबसे ज्यादा शांत रही है। विस्फोट के बाद हालांकि गृह मंत्रालय तुरंत सक्रिय हो गया। धमाके के तुरंत बाद इसकी जांच के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी [एनआइए] की टीम मुंबई रवाना कर दी गई। साथ ही मुंबई में उपलब्ध राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड [एनएसजी] को भी आतंकियों की किसी और वारदात को लेकर सतर्क कर दिया गया। गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक यह किसी आतंकी संगठन की ही साजिश है। उनके मुताबिक विस्फोट को देखते हुए सभी राज्यों को हाई अलर्ट पर रहने को कह दिया गया है। खास तौर पर मुंबई, दिल्ली, चेन्नई और बेंगलूर जैसे महानगरों में विशेष सतर्कता बरतने को कहा गया है। मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर ईमेल करेंमैसेंजर के द्वारा भेजेंप्रिंट संस्‍करणलेख को दर्जा दें दर्जा दें0 out of 5 blips(83) वोट का औसतaverage:4.506022Saving... अन्य पाक को सौंपी जाएगी दुरुस्त मोस्ट वांटेड सूची मुंबई धमाकों के पीछे इंडियन मुजाहिदीन! आतंकियों के निशाने पर रही है मुंबई उल्फा ने की अनिश्चितकालीन युद्धविराम की घोषणा सुपारी किलर बन रहे जेल से रिहा आतंकी एअरपोर्ट पर हमले की साजिश, एलर्ट कश्मीर में मारा गया दुर्दात अहसान जम्मू-कश्मीर में मुठभेड़ में आतंकी ढेर कश्मीर में थाने पर हमला, नौ पुलिसकर्मी घायल


Rss_feed